केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या, हुई पहली गिरफ्तारी

  • गिरफ्तार किए गए व्यक्ति की पहचान पी विल्सन के रूप में हुई है
  • एक फेसबुक पोस्ट से मिली मदद

केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या के मामले में वन विभाग ने शुक्रवार (5 जून) को पलक्कड़ में एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है. इस घटना के सामने आने के बाद से ही पूरे देश में खलबली मची हुई है. सोशल मीडिया पर जनकर लोग इस घटना की निंदा कर रहे हैं.

इसी बीच चीफ वाइल्डलाइफ वार्डन सुरेंद्र कुमार ने गिरफ्तार किए गए व्यक्ति को लेकर बयान जारी किया है. उन्होंने मीडिया को बताया कि उस आदमी की उम्र 40 साल है. वो विस्फोटक बनाने का काम करता था. इस काम में दूसरों की सहायता भी करता था. वहीं केरल के वन मंत्री के राजू ने भी रिपोर्ट की पुष्टि की है. उन्होनें कहा है कि गिरफ्तार हुए आदमी के अलावा और लोग भी कथित तौर पर अपराध में शामिल हैं. सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है.

क्या है पूरी बात?

जंगली हथिनी पिछले महीने पलक्कड़ में साइलेंट वैली नेशनल पार्क के पास एक गाँव में भटक गई थी. अधिकारी मोहन कृष्णन के फेसबूक पोस्ट के अनुसार, “वह हथिनी गर्भवती थी. वह खाने की तलाश में पलक्कड़ जिले के गांव में भटक रही थी. गांव वालों ने उसे खाने के लिए एक अनानास दिया था, जिसमें पटाखे भरे होने की आशंका थी. उसे खाने के बाद हथिनी के मुंह में विस्फोट हो गया. वेल्लीयार नदी उसकी मौत हुई. नदी में जाने से पहले कई दिनों तक वह तड़पती रही और 27 मई को वेल्लीयार नदी में खड़े – खड़े उसकी मौत हो गई”. बाद में हुए जांच के बाद यह पता लगा की, क्षेत्र के ग्रामीण अक्सर अपने खेतों को जंगली जानवरों जैसे सूअर से बचाने के लिए भोजन – फल या जानवरों की चर्बी में पटाखे या विस्फोटक का उपयोग करते हैं. यह गैरकानूनी प्रथा की व्यापक रूप से निंदा की गई है.

देश भर में केरल की निंदा हुई

इस घटना के बाद देशभर के लोग गर्भवती हथिनी के लिए इंसाफ की मांग कर रहे है. देशभर में इस घटना की कड़ी निंदा की गई है. सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीरों में नदी में हथिनी को मुंह में रखकर और पानी में ट्रक के साथ दिखाया गया है. शायद कुछ राहत के लिए जो केवल कष्टदायी दर्द के रूप में कल्पना की जा सकती है. “जानवरों को 20 दिन पहले चोट लगी होगी और तब से भूखे थे”, अधिकारियों ने उनके सिकुड़े हुए रूप का अनुमान लगाया.

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि उनकी सरकार की जाँच मानव-वन्यजीव संघर्ष के बढ़ते उदाहरणों को दूर करने की कोशिश करेगी. “जलवायु परिवर्तन स्थानीय समुदायों और जानवरों दोनों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है,” उन्होंने ट्वीट किया. kerala, kerala elephant,

Anjali Kumari

Aspiring news reporter and radio jockey.

One thought on “केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या, हुई पहली गिरफ्तारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *