नीम टेबलेट का कोरोना पर परीक्षण, भारत में ह्यूमन ट्रायल की तैयारी

नीम (Neem) स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले फायदे किसी अमृत की तरह होते हैं. अब वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की टीम इस बात का पता लगाने में जुटी है कि क्या नीम के पत्ते कोरोना वायरस (Coronavirus) की काट बन सकती है. हालांकि अभी तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण का सफल इलाज नहीं मिला है. ऐसे कोरोना का इलाज ढूंढने के लिए डॉक्टरों और रिसर्चरों की टीम दिन रात लगी है. इस प्रक्रिया में आयुर्वेद भी लगातार प्रयोग कर रहा है. अब ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (AIIA) ने निसर्ग हर्ब्स नाम की कंपनी के साथ समझौता किया है. ये दोनों संस्थाएं ये परीक्षण करेंगी कि कोरोना से लड़ने में नीम कितना कारगर है. इस परीक्षण को फरीदाबाद के ESIC अस्पताल में किया जाएगा. AIIA की निदेशक डॉ तनुजा नेसारी इस अनुसंधान की प्रमुख परीक्षणकर्ता होंगी. उनके साथ ESIC अस्पताल के डीन डॉ असीम सेन भी साथ होंगे. इस टीम में AIIA और ESIC के 6 और डॉक्टर शामिल होंगे.

कैसे किया जाएगा ह्यूमन ट्रायल?

एक्सप्रेस फार्मा के मुताबिक AIIA के डायरेक्टर डॉक्टर तरुण नेसारी और ESIC अस्पताल के डीन डॉक्टर असीम सेन की देख रेख में 6 डॉक्टरों की एक टीम बनाई गई है. ये टीम 250 लोगों पर परीक्षण करेगी. इनके ट्रायल का मुख्य मकसद है ये पता लगाना कि आखिर नीम के तत्व कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने में कितना कारगर है. इस ट्रायल के तहत लोगों को नीम की कैप्सूल दी जाएगी. ये ट्रायल दो तरीके से किए जाएंगे. 125 लोगों को निसर्ग के कैप्सूल दिए जाएंगे. जबकि बाकी बचे 125 लोगों को नीम के साधारण कैप्सूल दिए जाएंगे. इसके बाद इन सारे लोगों को 28 दिनों तक ऑजर्बेशन में रखा जाएगा.

इस दौरान ट्रायल में शामिल लोगों के नाक एवं मुंह से सैंपल लेकर कोरोना जांच की जाएगी. अगर कोई पाजिटिव पाया जाता है, तो संबंधित व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस के प्रभाव की जांच की जाएगी. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सर्वे में शामिल संक्रमित व्यक्ति में वायरल लोड कम होगा. ह्यूमन ट्रायल के पहले चरण की शुरुआत 7 अगस्त से ही शुरू हो चुका है. 

निसर्ग बायोटेक के संस्थापक और सीईओ गिरीश सोमन ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि उनकी ये दवा कोरोना की रोकथाम में असरदार एंटी वायरल दवा साबित होगी. आयुष मंत्रालय का भी मानना है कि नीम कोरोना के इलाज में कारगार साबित हो सकती है. इसके चलते नीम पर शोध करने का फैसला लिया गया है. नीम में एंटीबायोटिक तत्व काफी मात्रा में होते हैं.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *