बिहार सरकार का ऐलान, आयुष्मान हेल्थ योजना के तहत करा सकेंगे एंजियोग्राफी, बायोप्सी और जबड़े की सर्जरी

बिहार विधान सभा चुनाव करीब आते ही राज्य में योजनाओं की झड़ी लगा दी गई है. आए दिन केंद्र सरकार या राज्य सरकार किसी न किसी नई योजना का आगाज कर देती है. इसी कड़ी में अब बिहार में स्वास्थ सेवा को बेहतर बनाने का ऐलान किया गया है. बिहार सरकार ने ऐलान किया है कि अब आयुष्मान योजना का लाभ लेने वाले अब एंजीयोग्राफी, बायोप्सी व जबड़े की सर्जरी सहित अन्य बीमारियों का इलाज करा सकेंगे.

राज्य में हेल्थ पैकेज बेनिफिट 2.0 के लागू होने के बाद इसके तहत 874 पैकेजों के तहत इलाज की 1591 प्रक्रिया शामिल की गई है. स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इसमें गर्भाश्य कैंसर टेस्ट, लंग्स सिस्ट सर्जरी, स्प्लीन लेप्रोस्कोपी, पाइल्स, हर्निया लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, हाई रिस्क प्रीगनेंसी टेस्ट, डॉयग्नोस्टिक/स्टेजिंग लेप्रोस्कोपिक कैंसर टेस्ट आदि शामिल किए गए हैं. राज्य में आयुष्मान योजना के 1.08 करोड़ लाभ लेने वाले लोग हैं. 

आयुष्मान योजना का लाभ लेने वालों की बाइपास सर्जरी सहित अन्य बीमारियों के इलाज की दर भी बढ़ाई गई है. बाइपास सर्जरी के लिए पहले 80 हजार रुपये की दर निर्धारित थी जिसे बढ़ाकर 1,19000 कर दिया गया है. अस्थायी पेसमेकर के लिए पहले पांच हजार रुपये निर्धारित था उसे बढ़ाकर 19, 200 रुपये कर दिया गया है. वहीं, सामान्य सर्जरी की दरों को भी बढ़ाया गया है. इनमें हर्निया के ऑपरेशन को लेकर 15000 की जगह अब 20000 रुपये की दर निर्धारित की गई है.

वहीं, ऑपरेशन से प्रसव और हाई रिस्क डिलिवरी के लिए 9000 की जगह अब 11500 रुपये की दर निर्धारित की गई है. जबकि गर्भाश्य कैंसर के इलाज के लिए 20000 की जगह 38000 रुपये खर्च किए जा सकेंगे. टोटल हिप रिप्लेस्मेंट को लेकर 75000 की जगह 1,35000 रुपये, टोटल नी रिप्लेस्मेंट के लिए 80,000 की जगह अब 1,25,000 रुपये खर्च किए जाएंगे.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *