कोविड-19 के खिलाफ चेन्नई मेट्रो की नई पहल, ऐसा करने वाला पहला मेट्रो कॉर्पोरेशन

  • तमिलनाडु में परिचालन वापस शुरू करने के लिए राज्य सरकार कर रही है व्यवस्था
  • कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए सीएमआरएल कर रही है खास तैयारी

चेन्नई. चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड (सीएमआरएल) कोरोनवायरस के प्रसार के बीच संपर्क रहित संचालन की दिशा में एक सरल तरीका लेकर आई है. एजेंसी ने एलेवेटर बटन के साथ हाथ से संपर्क से बचने के लिए पैर से संचालित लिफ्ट स्थापित की है. जिससे वायरस के फैलने की संभावना कम हो जाती है. अपनी नई पहल के साथ, सीएमआरएल ऐसा करने वाला देश का पहला मेट्रो रेल बन गया है. तमिलनाडु ने आज कोरोनोवायरस के 874 सकारात्मक मामलों की सूचना दी. जिसमें राज्य की राजधानी चेन्नई से 618 मामले निकल कर आए है.

लिफ्ट अब हाथ से नहीं पैर से चलेंगे

अभी के लिए सीएमआरएल ने कोआम्बेडु के अपने मुख्यालय में पैर से चलने वाली लिफ्ट की स्थापना की है. इसका सटीक समाधान बन जाने के बाद, सीएमआरएल की यह योजना अपने मेट्रो स्टेशनों पर सभी लिफ्टों में स्थापित की जाएगी. सीएमआरएल ने कई उपायों को शामिल करने की योजना बनाई है. जिसमें शहर में परिचालन शुरू होने पर स्टेशनों पर और ट्रेनों के अंदर सीटों पर चेतावनी स्टिकर लगाना शामिल है. एजेंसी ने लॉकडाउन अवधि के दौरान 25 प्रतिशत कर्मचारियों को मुख्य कार्य के लिए स्टेशनों को खुला रखा है.

चेन्नई में लॉकडाउन के नियम हुए सख्त

तमिलनाडु के जिले सलेम के जिला कलेक्टर एस ए राम ने लोगों को मास्क पहनने की सख्त चेतावनी दी है. उनका कहना है, “जो भी मास्क पहन का नहीं निकलेंगे उनको 100 रुपए का जुर्माना भरना होगा. अगर वही इंसान दुबारा यही करते है तो, उनपे 500 का जुर्माना लगेगा. और तीसरी बार नियम का उल्लंघन करने पर उन्हें महामारी रोग अधिनियम के तहत दर्ज किया जाएगा. और गिरफ्तार किया जाएगा”.

Anjali Kumari

Aspiring news reporter and radio jockey.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *