LAC पर चीन ने तैनात किए 60,000 से ज्यादा सैनिक: माइक पोम्पियो

गलवान घाटी में हुए खूनी झड़प के बाद से लेकर भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव बरकरार है. चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर 60,000 से ज्यादा सैनिक तैनात किया हुआ है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने यह बात कही है. अमेरिका, जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक में भाग लेने के बाद पोम्पियो ने बीजिंग के ‘खराब बर्ताव’ और इसके वजह से क्वॉड देशों पर पैदा होने वाले खतरे को लेकर चीन की आलोचना की है. बता दें कि हिंद-प्रशांत महासागर के इन चार देशों को क्वॉड समूह के तौर पर जाना जाता है.

पूर्वी लद्दाख में LAC, हिंद-प्रशांत महासागर और दक्षिण चीन सागर में चीन के आक्रामक सैन्य बर्ताव की पृष्ठभूमि में चारों देशों के विदेश मंत्रियों की यह बैठक हुई थी. कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद यह इस तरह की पहली बैठक थी. पोम्पियो ने बीते मंगलवार को ही जापान की राजधानी टोक्यो में भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ भी मुलाकात की थी. दोनों के बीच हिंद-प्रशांत महासागर और दुनियाभर में शांति और सुरक्षा बनाए रखने को लेकर बातचीत हुई. टोक्यो में क्वॉड देशों के मंत्रियों की दूसरी बैठक में भाग लेने के बाद लौटे पोम्पियो ने एक इंटरव्यू में कहा कि चीन ने भारतीय सीमा पर 60,000 सैनिक तैनात किए हुए हैं.

उन्होंने कहा, “मैं भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के विदेश मंत्रियों के साथ था. हम इस फॉर्मट को क्वॉड कह रहे हैं. इनमें से हर एक का असल खतरा चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की तरफ से पैदा किए जा रहे खतरों से जुड़ा है. वहीं, पूर्वी लद्दाख में जारी सीमा विवाद के बीच भारत और चीन के शीर्ष सैन्य कमांडर 12 अक्टूबर को अगले चरण की बातचीत करेंगे. दोनों देशों के बीच सीमा पर जारी विवाद को सुलझाने के लिए इस स्तर की यह सातवीं बैठक होगी. सैन्य अधिकारियों के अलावा इसमें विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे. सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में भारत एक बार फिर चीन से सभी विवादित क्षेत्रों से सैनिक पीछे हटाने को कहेगा.

दोनों देशों के बीच अगले चरण की बातचीत ऐसे समय में हो रही है जब लद्दाख में सर्दियों का मौसम शुरू हो गया है. शून्य से कम तापमान के दिनों में दोनों देशों के लिए यह पहली बार होगा जब उसके सैनिक LAC की अग्रिम चौकियों तक तैनात रहेंगे. हालिया महीनों में हुई झड़पों और अनसुलझे विवाद को देखते हुए भारत और चीन ने बड़ी संख्या में सैनिकों को LAC के पास भेजा है. गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच अप्रैल से LAC पर तनाव बना हुआ है और अभी चार जगहों पर दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने हैं. इनमें देपसांग, गोगरा, पैंगोंग झील का फिंगर्स एरिया और चुशूल सब-सेक्टर शामिल हैं. पहली तीन जगहों पर तो चीनी सैनिक भारत की जमीन पर बैठे हुए हैं.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *