बुजुर्गों पर ज्यादा असर कर रहा कोरोना – स्वास्थ्य मंत्रालय

  • कोरोना से ठीक होने का प्रतिशत 13.8, मौजूदा मृत्यु दर 3.3 प्रतिशत
  • 83 प्रतिशत मरने वालों में 60 वर्ष से ऊपर औऱ गंभीर बीमारी के रहे शिकार

नई दिल्ली. देश में कोरोना का कहर रोकने के लिए पूरे देश में एक साथ लॉकडाउन को लागू किया गया. वायरस के प्रकोप की गभीरता को समझते हुए देश के लोगों ने भी लॉकडाउन का पालन किया. वहीं अब इन प्रयासों का सफल नतीजा सामने आने लगा है.

देश में कोरोना के कहर को रोकने के लिए की गई कोशिशों के सकारात्मक नतीजें दिखने लगे हैं. आज के समय में देश के 23 राज्यों के 47 जिले ऐसे हैं जहां बीते 14 दिनों से कोरोना का कोई नया मामला सामने नहीं आया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को जानकारी दी की अबतक देश के 25 जिले ऐसे थे जहां 14 दिनों तक कोरोना के नए मामसे सामने नहीं आए थे. इस सूची में आज 22 जिलों का नाम और जुड़ गया है. अब कुल मिला कर ऐसे 47 जिले हो गए हैं. इसमें बिहार का पटना, हरियाणा का पानीपत और नादिया जिला भी शामिल है.

इन जिलों में नहीं आए मामले

25 जिलों के अलावा अब जिन जिलों में बीते 14 दिनोें में कोई नया मामला देखने को नहीं मिला है उसमें बिहार का लखीसरा, गोपलागंज और भागलपुर, जम्मू व कश्मीर से पुलवामा, पश्चिम बंगाल से जलपाईगुड़ी और कलिमपोंग, राजस्थान से उदयपुर और ढोलपुर, मणिपुर से थोबल, कर्नाटक से चित्रदुर्गा, पंजाब से होशियारपुर, हरियाणा से चरखीदादरी और रोहतक, अरुणाचल प्रदेश से लोहित, ओड़िशा से भद्रक और पुरी, आंध्र प्रदेश से विशाखापटनम, असम से गोलाघाट, नलबारी, साउथ सलमारा, करीमगंज, कमरूप शामिल हैं.

बुजुर्गों पर हो रहा ज्यादा असर

कोरोना वायरस का सबसे अधिक शिकार बुजुर्ग लोग हो रहे हैं. खासतौर से 60 वर्ष की आय़ु वाले. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में कोरोना से मरने वालों में 75 फीसदी लोग 60 वर्ष से ऊपर की आयु के हैं. इनमें ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो कोरोना से ग्रसित होने के साथ साथ किडनी, मधुमेह या फिर दिल की बीमारी से ग्रस्ति लोग पाए गए हैं.

अबतक 480 की गई जान

कोरोना से मरने वालों की संख्या 480 तक पहुंच चुकी है. इसमें मरने वालों की संख्या 14.4% लोगों की उम्र 45 साल या उससे कम है. इनमें से 10% लोग ऐसे हैं जिनकी उम्र 45-60 वर्ष के बीच की है.

60-67 के आयुवर्ग के लोगों के मरने वालों का आंकड़ा 33.1% है. वहीं 75 वर्ष से ज्यादा की आयु के लोगों को मरने का प्रतिशत 42.2% है.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *