बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान अम्फान का खतरा, हाई अलर्ट पर भारतीय नौसेना

  • चक्रवाती तूफान को लेकर नौसेना में हाई अलर्ट जारी
  • तटीय राज्यों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश होने की संभावना

नई दिल्ली. कोरोना संकट से जूझ रहे देश पर चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है. पिछले 12 घंटों से आशंका जताई जा रही है कि ये चक्रवात के ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट से टकरा सकता है. चक्रवात के कारण अगले 24 घंटों में भारी बारिश होने की संभावना है. इस चक्रवाती तूफान को लेकर भारतीय नौसेना कमान (ईएनएस) हाई अलर्ट पर हैं.

तूफान अम्फान को लेकर तटीय राज्यों में अलर्ट जारी

जानकारी मिली है कि भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के ऊपर और दक्षिण अंडमान सागर के पास कम दवाब का क्षेत्र बन रहा है. ओडिशा और आस-पास के इलाके में चक्रवाती तूफान अम्फान की संभावना हैं. ओडिशा और पश्चिम बंगाल के मछुआरों को आगाह किया गया है कि वो समुद्र में न जाएं. सरकार ने चेतावनी जारी की है कि 17 मई से 20 मई तक समुद्र से दूर रहें. नौसेना ईस्ट कोस्ट पर चक्रवात से राहत देने के लिए तैनात है. 

तूफान से राहत के लिए व्यवस्था

नौसेना जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर और राहत सामग्री तैयार है. जहाजों में खाने का सामान, तंबू, कपड़े, दवाइयां, कंबल की व्यवस्था भी प्रर्याप्त मात्रा में की गई है. इसके अलावा, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तूफान से बचाव और राहत प्रयासों को बढ़ाने के लिए जेमिनी बोट्स और मेडिकल टीमों के साथ तेहनत कर दिया गया है.

अन्य राज्यों में भी हाई अलर्ट जारी

नौसेना ने विशाखापट्टनम, आंध्र प्रदेश के नेवल एयर स्टेशनों ईएनएस डेगा और तमिलनाडु के अरककोनाम में ईएनएस राजली पर नौसेना के विमानों को भी रखा है. आवश्यकता पड़ने पर आकस्मिक निकासी में इनकी मदद ली जाएगी. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनड़ीआरएफ), सशस्त्र बलों और भारतीय तटरक्षक बल को सतर्क किया गया है. राज्य सरकार के अधिकारियों से समन्वय करने को भी कहा गया है.

Anjali Kumari

Aspiring news reporter and radio jockey.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *