ऑनलाइन शॉपिंग हुई शुरू, दिल्ली वाले सबसे ज्यादा ये प्रोडक्ट कर रहे ऑर्डर

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन 4 भी जारी हो चुका है. राहत है कि अब लॉकडाउन 4 में पहले की अपेक्षा कुछ रियायतें दी जा रही है. ई कॉमर्स वेबसाइटों को भी कुछ रियायतें दी गई है. यानी अब आम जनता ऑनलाइन शॉपिंग कर सकती है.

लॉकडाउन के दौरान लोगों के शॉपिंग के तरीके काफी बदल गए हैं. उनकी जरुरत की चीजों में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है. लॉकडाउन ने लोगों की जिंदगी को पूरी तरह से बदल दिया है.

मोबाइल की जगह मास्क जरूरी

एक समय था जब मोबाइल- इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स, ग्रोसरी जैसे सामानों को ऑनलाइन ऑर्डर किया जाता था. पहले लोग कपडें, मोबाइल, वीडियो गेम्स आदि को अपनी आवश्यकता की चीजों में जगह देते थे. वहीं अब मास्क, ग्लव्स, सैनेटाइजर आदि की मांग अधिक हो रही है.

मास्क की बिक्री बढ़ी

जब से कोरोना वायरस का प्रकोप फैला है तबसे मास्क की बिक्री में कई गुणा का इजाफा देखने को मिला है. स्नैपडील के प्रवक्ता ने मीडिया को बताया कि भारत में बिके कुल मास्क का 22% हिस्सा एनसीआर में बिका. दिल्ली में 18%, नोएडा में 22%, गुरुग्राम में 30%, गाजियाबाद में 18% और फरीदाबाद में 9% मास्क बिके.

उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण लोगों में बढ़ रही जागरुकता है. मास्क के रेट भी पहले से काफी कम हो गए हैं. इसके अलावा सैनेटाइजर की मांग में भी काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है. अगर पिछले एक महीने की बात करे को एनसीआर में सैनेटाइजर की मांग में 60% की वृद्धि हुई है. अधिकतर ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स का बीते एक महीने से ऐसा ही हाल है.

ग्रीन-ऑरेंज जोन में इनकी भी डिमांग

ग्रीन और ऑरेंज जोन में प्रशासन ने गैर जरुरी सामानों के आर्डर की छूट दी है. इन क्षेत्रों में लोगों ने इलेक्ट्रोनिक्स, स्मार्ट फोन, खिलौने, कपड़े, किचेन के सामान आदि के भी ऑर्डर भी किए हैं. इसके अलावा पर्सनल ग्रूमिंग यानि ट्रिमर, शुगर नापने वाली मशीन आदि  सामानों की मांग सबसे ज्यादा रही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *