फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को मिली धमकी, जैश-ए-मोहम्मद ने कहा- अगला निशाना तुम जैसे काफिर

संयुक्त राष्ट्र (UN) द्वारा घोषित आतंकी संगठन जैश-ए- मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) को धमकी दी है. आतंकी संगठन ने धमकी देते हुए कहा है कि इमैनुएल मैक्रों और उन जैसे दूसरे काफिर निशाने पर हैं, इन्हें निशाना वो बनाएंगे जो प्रोफेट के सम्मान के लिए अपनी जान कुर्बान करने के लिए तैयार हैं. जैश-ए-मोहम्मद से पहले अल कायदा और इस्लामिक स्टेट भी फ्रांस के लिए धमकियां जारी कर चुका है.

अल कलाम (Al Qalam) नाम की एक वेबसाइट पर छपे इस लेख में जैश ने कहा है कि आज नहीं तो कल और कल भी नहीं तो उसके अगले दिन, कहीं न कहीं एक और अब्दुल्ला चेचेनी होगा. अब्दुल्ला चेचेनी वह आतंकी है जिसने बीते महीने पेरिस में एक स्कूल टीचर की गला काटकर हत्या की थी. इस लेख में मुमताज़ कादरी और गाजी खालिद का भी उल्लेख किया गया है. मुमताज़ वह शख्स है जिसने साल 2011 में पाकिस्तान के लोकतंत्र समर्थक नेता सलमान तासीर की हत्या की थी. गाजी खालिद ने अहमदिया मुस्लिम ताहिर अहमद नसीम की इसी साल जुलाई में एक कोर्टरूम में गोली मारकर हत्या कर दी थी. ताहिर नसीम पर भी पाकिस्तान में ईशनिंदा का केस चलाया जा रहा था.

इस लेख के शीर्षक में कहा गया है कि मुसलमान प्रोफेट (मोहम्मद साहब) के सम्मान के लिए अपना सब कुछ कुर्बान करने के लिए तैयार हैं. जैश ने आगे लिखा- अगर कोई भी ईशनिंदा जैसा जुर्म करेगा, वह खुद ही अब्दुल्ला जैसे युवाओं को जन्म देगा, कोई भी मुस्लिम आपको कुरान जलाने या फिर प्रोफेट के खिलाफ बातें करने की इजाजत नहीं दे सकता.

इमैनुएल मैक्रों ने फ्री स्पीच और एक्सप्रेशन के मद्देनज़र मोहम्मद साहब का कार्टून बनाए जाने पर बैन लगाने से इनकार कर दिया था. कार्टून के समर्थन में आने के बाद से ही इमैनुएल मैक्रों के खिलाफ दुनिया भर के मुस्लिम देशों में प्रदर्शन हुए थे. दुनिया के कई देशों में मुस्लिम एकता के नाम पर लोग कट्टरपन्थियों के समर्थन में सड़कों पर आए. चाहे पाकिस्तान, बांग्लादेश या लेबनान हो या फिर वो फिलिस्तीनी क्षेत्र हो, कई स्थानों पर हजारों की संख्या में मुसलमान फ्रांस के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नजर आए थे. पाकिस्तान के रावलपिंडी में भी फ्रांस के खिलाफ खादिम हुसैन रिजवी की अगुआई में एक बड़ा प्रदर्शन हुआ था.

वहीं अल कलम नाम की इस वेबसाइट के जरिए सिर्फ जैश ही नहीं अन्य पाकिस्तानी आतंकी संगठन भारत के खिलाफ भी जहर उगलते रहे हैं. इससे पहले यहां 22 अक्टूबर को एक लेख छपा था जिसमें इजराइल, कश्मीर और अफगानिस्तान को लेकर जिहाद करने का आह्वान किया गया था साथ ही मोदी सरकार के खिलाफ जंग छेड़ने के लिए भी उकसाया गया था.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *