कोविड-19 : मोहम्मद शमी प्रवासियों को मजदूरों की मदद करते हुए पाए गए

  • मोहम्मद शमी प्रवासी श्रमिकों को भोजन के पैकेट और मास्क वितरित करते देखे गए
  • शमी ने उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय एनएज-24 के किनारे भोजन वितरण स्टाल लगाए हैं

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी के बीच सरकार के अलावा बहुत से लोग प्रवासी मजदूरों की मदद करने के लिए आगे आए है. प्रवासी मजदूरों की स्थिति को देखकर अब भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने भी लोगों की मदद करने की पहल की है. शमी ने अपने घरों को लौट रहे प्रवासियों को खाने के पैकेट और मास्क बांटना शुरू किया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश के साहसपुर में अपने घर के पास गरीब प्रवासी मजदूरों के लिए खाना-पानी मुहैया कराने के लिए केंद्र बनाये हैं.

बीसीसीआई ने शमी का एक वीडियो भी ट्वीट किया है. इस वीडियो में शमी मास्क और ग्लव्स पहने दिख रहे हैं. वो बसों में जा रहे लोगों को खाने के पैकेट और मास्क दे रहे हैं. बोर्ड ने लिखा, “कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मोहम्मद शमी गरीबों की मदद के लिए आगे आए है. उन्होंने उत्तर प्रदेश में एनएच-24 पर लोगों को खाने के पैकेट और मास्क बांटे है. अपने घर के पास भोजन वितरण केंद्र भी बनाया है”. शमी ने अपने इस काम को अपना फर्ज बताया है.

इससे पहले, मोहम्मद शमी ने एक घटना सुनाई थी. बता दें कि कुछ दिन पहले यूजवेंद्र चहल के साथ लाइव चैट पर बात कर रहे थे. उस वीडियो में उन्होंने एक प्रवासी मजदूर को सीसीटीवी दृश्यों के माध्यम से अपने निवास के बाहर भूख से बेहाल देखा था. शमी ने कहा कि वह अपने घर से उस कर्मचारी को खिलाने के लिए तुरंत घर से निकले, जो राजस्थान से लखनऊ होते हुए बिहार जा रहे थे.

“मैं जितना संभव हो उतना मदद करने की कोशिश कर रहा हूं. यहां प्रवासी श्रमिक हैं. एनएच-24 मेरे घर के भी पास है. इस कठिन समय में मैं लोगों को देख सकता हूं. मुझे लगता है कि मुझे मदद करनी चाहिए. जितना संभव हो सके उतना करना चाहता हूँ”, शमी ने कहा था.

भारतीय क्रिकेट टीम के विभिन्न पूर्व और वर्तमान खिलाड़ियों ने बीसीसीआई के साथ मिलकर पहले ही पीएम-केयर फंड में राहत और कोविड-19 से लड़ने के लिए राज्य राहत कोष की स्थापना की है.

Anjali Kumari

Aspiring news reporter and radio jockey.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *