ख्वाब बैडमिंटन प्लेयर बनने का, बन गए शानदार एक्टर… हैप्पी बर्थडे बॉलिवुड के फैजल खान

नई दिल्ली. ना रंग ना रूप. पढ़ाई में भी कोई खास डिग्री नहीं. अपनी बात से आकर्षित करने का हुनर भी नहीं. मगर जिस समय कैमरे का रूख किया तो हर इंसान को अपनी ओर आकर्षित कर लिया. फिल्म इंडस्ट्री में मजबूत इरादे और अपनी मेहनत के दम पर बॉलीवुड यानी सपनों की दुनिया में अपनी पहचान बनाने वाले ये अदाकार हैं नवाजुद्दीन सिद्दीकी.

नवाज का आज अपना 46वां जन्मदिन मना रहे हैं. अपनी मां की नसीहत और सालों की मेहनत के बलबूते पर नवाज आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं. हालांकि बचपन में एक बैडमिंटन प्लेयर का बनने का सपना था. मगर घुटने में लगी चोट के कारण वो सपना अधूरा रह गया. मगर एक्टर बनने का सपना न सिर्फ पूरा किया बल्कि सफलता और शोहरत की उन ऊंचाइयों को छुआ की आज दुनिया उनकी दिवानी है. 

नवाज आज बॉलिवुड के ऐसे एक्टर हैं जिनके साथ हर एक्टर स्क्रीन शेयर करना चाहता है. हालांकि नवाज सक्सेस की जिस ऊंचाई पर हैं, वहां पहुंचने के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी. इनके जन्मदिन पर आइए जाने उनके बारे में कुछ खास बातें-

  • नवाजुद्दीन का जन्म 19 मई 1974 को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक छोटे से गांव बुढ़ाना में हुआ.
  • नवाजुद्दीन को उनके करीबी लोग नवाज के नाम से बुलाते हैं
  • ये मुकाम हासिल करने उन्होंने कड़ी मेहनत की है. एक वक्त ऐसा था जब उन्हें दो वक्त का खाना भी ठीक से नसीब नहीं होता था.
  • नवाज ने हरिद्वार के कॉलेज से ग्रेजुएशन करके एक केमिस्ट की नौकरी भी की थी लेकिन उस काम में उनका मन नहीं लगा. उन्होंने यह नौकरी छोड़ दी. फिर उन्हें दिल्ली स्थित ‘नैशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी)’ में एडमिशन लेने का मौका मिला. 1996 में एनएसडी से उन्होंने ग्रेजुएशन पूरी की.
  • साल 2004 में मजबूत इरादों और अपने हुनर को लेकर नवाजुद्दीन मायानगरी मुंबई पहुंचे. उनका वो साल स्ट्रगल से भरा हुआ था. जेब में घर का किराया देने तक के पैसे नहीं थे. थकहार कर नवाज ने अपने एनएसडी के एक सीनियर से पनाह मांगी. उस सीनियर ने घर और किराया शेयर किया, लेकिन शर्त रखी की नवाज को ही खाना पकाना पड़ेगा.
  • स्ट्रगल के दौरान नवाज ने आमिर खान की फिल्म ‘सरफरोश’ में एक छोटे रोल के साथ अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की.
  • नवाज ने मुंबई में कई टीवी सीरियल्स के लिए भी ट्राई किया लेकिन कोई सफलता हासिल नहीं हुई.
  • नवाजुद्दीन ने फिल्म ‘मुन्नाभाई MBBS’ में  एक छोटा सा रोल भी निभाया था. फिल्म में वो एक जेबकतरे का रोल में नजर आए थे.
  • नवाज के पास साल 2003 से 2005 के बीच कोई काम नहीं था. उन गुरबत के दिनों में नवाज को अपना रूम चार लोगों के साथ शेयर करना पड़ा. उन दिनों नवाज कभी-कभी एक्टिंग वर्कशॉप चलाकर जैसे तैसे गुजारा किया करते थे.
  • नवाजुद्दीन ने अनुराग कश्यप की ‘ब्लैक फ्राइडे’ और ‘देव डी’ में छोटे-छोटे रोल अदा किए लेकिन बाद में फिल्म ‘न्यूयॉर्क’ में उनके अभिनय के लिए काफी सराहना मिली.
  • नवाज ने साल 2010 में आमिर खान के प्रोडक्शन में बनी फिल्म ‘पीपली लाइव’ में एक पत्रकार की भूमिका निभाई जिसके लिए उनके किरदार को काफी सराहा गया.
  • सुजॉय घोष की फिल्म ‘कहानी’ के बाद नवाज दर्शकों की नजरों में आने लगे. नवाज के करियर में सबसे बड़ा बदलाव अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के साथ आया. इस फिल्म में नवाज ने फैजल नाम के किरदार निभाया जिसके डायलॉग लोगों के जुंबा पर आज भी जस के तस हैं.
  • नवाजुद्दीन ने सलमान खान के साथ फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ और ‘किक’ में भी अहम किरदार अदा किया. इसके अलावा आमिर खान के साथ फिल्म ‘तलाश’ में भी नवाज ने छोटी लेकिन अहम भूमिका निभाई. इस साल रिलीज हुई फिल्म ‘बदलापुर’ में भी नवाज के किरदार को दर्शकों का प्यार मिला. कई बड़े स्टार्स के साथ कई फिल्में कर रहे नवाजुद्दीन का दर्शकों को बड़े पर्दे पर इंतजार रहता है.
  • नवाज बचपन से ही एक बैडमिंटन प्लेयर बनना चाहते थे लेकिन घुटनों में चोट लगने के कारण वो ख्वाब अधूरा रह गया और वह एक्टर बन गए. 

Palak Saxena

Pursuing mass communciation from noida,film city. Aspiring content writer, Radio jockey and Singer

One thought on “ख्वाब बैडमिंटन प्लेयर बनने का, बन गए शानदार एक्टर… हैप्पी बर्थडे बॉलिवुड के फैजल खान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *