उत्तरी निगम की टीचर की कोरोना से मौत

एक तरफ दिल्ली सरकार पर लगातार विपक्ष आरोप लगा रहा है कि सरकार कोरोना वायरस के कारण हुई मौंतों का आंकड़ा सही नहीं बता रही है. आंकड़ों में लगातार गड़बड़ी सामने आ रही है. सरकार के दावे और अस्पताल के आंकड़ों में जमीन आसमान का अंतर देखने को मिल रहा है.

वहीं दिल्ली में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. दिल्ली में कोरोना के 6500 से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना से मरने वालों की संख्या 77 पर पहुंच गई है.

निगम टीचर की कोरोना से मौत

इसी बीच उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कार्यरत टीचर की भी कोरोना से मौत हो गई है. रविवार की सुबह टीचर की मौत की जानकारी मिली है. संबंधित टीचर उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कार्यरत थी.

तीन दिन पहले महिला के पति जो डॉक्टर थे, उनकी भी कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है. अब परिवार में सिर्फ दो बच्चे बचे हैं, जिनके सिर पर किसी का आसरा नहीं बचा है.

शिक्षक संघ ने आयुक्त से की मांग

नगर निगम शिक्षक संघ बीते कई दिनों से टीचर्स की ड्यूटी राशन वितरण केंद्र से हटाने की मांग कर रहे हैं. साथ ही सुरक्षा के लिए एहतियात बरतने के लिए निगम आयुक्त से कई बार गुहार कर चुके हैं. निगम के शिक्षकों के लिए बीमा कवर की मांग भी की गई है.

संघ के महासचिव रामनिवास सोलंकी ने बताया कि लगातार मांग उठाने के बाद भी निगम की ओर से शिक्षकों को कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है. शिक्षकों ने मांग की है कि उन्हें ड्यूटी से मुक्त किया जाए. लॉकडाउन में ढील मिलने के बाद अब फूड डिपार्टमेंट के कर्मचारियों से राशन वितरण का काम करवाया जाए.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *