काली पट्टी बांध कर कार्य करने को मजबूर हुए शिक्षक, जानें क्या है कारण

नई दिल्ली. उत्तरी दिल्ली नगर निगम के शिक्षक जो लॉकडाउन में भी लगातार ड्यूटी कर रहे हैं. 11 घंटी की ड्यूटी और न कोई छुट्टी इसके बाद भी निगम को शिक्षकों पर दया नहीं आ रही है. बीते दो महीनों से बिना वेतन के लगातार निगम शिक्षक अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए लोगों को राशन वितरण कर रहे हैं. मगर खुद के घर में चूल्हा जलाने के लिए भी अब पैसे नहीं बचे हैं. 

निगम शिक्षकों को बीते दो महीनों से निगम ने वेतन का भुगतान नहीं किया है. निगम के इस लचर व्यवहार को देखते हुए नगर निगम शिक्षक संघ के आहवान पर सभी शिक्षक पिछले दो दिनों से काली पट्टी बांध कर सुखा व पका राशन का वितरण कर रहे है. संघ का मानना है कि काली पट्टी के जरिए अपनी परेशानी लोगों, अधिकारियों और सरकार तक पहुंचा सकते हैं. 

इस मुद्दे पर नगर निगम शिक्षक संघ के महासचिव रामनिवास सोलंकी ने कहा कि उतरी नगर निगम के 8000 शिक्षकों को मार्च व अप्रैल माह का आज तक वेतन नहीं मिला है. न ही निगम प्रशासन व न दिल्ली सरकार शिक्षकों को वेतन देने के मामले पर गंभीर है.

दुनिया इस समय कोरोना महामारी की चपेट में है. सभी देशों की अर्थव्यवस्था हिली हुए है. एक तरफ लोग घरों से निकलने से पहले हजार बार सोच रहे हैं. वहीं निगम के शिक्षक हैं जो अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए घर-परिवार की चिंता किए बिना ही अपनी जान जोखिम में डाल कर ड्यूटी पूरी कर रहे हैं.

बिना सुरक्षा किट करना पड़ रहा काम

कहा जाता है कि शिक्षक वह होता है जो राष्ट्र का निर्माण करता है. लेकिन आज देश की राजधानी दिल्ली में सरकार को उन शिक्षकों के बारे में सोचना उचित नहीं समझती है. महामारी के दिनों में बिना सुरक्षा किट यानि सुरक्षा उपकरणों के आभाव में भी लगातार अपनी कार्य को कर रहे है.

शिक्षकों ने गंवाई जान

अपनी कार्य को पूरी तत्पर्ता से निभाते हुये दो शिक्षक अपनी जान गवां चुके है. कई शिक्षक संक्रमित होने पर अपना इलाज कराने में सक्षम नहीं है. इसके भी बावजूद शिक्षक अपनी जान की परवाह किए बिना, समर्पण भावना से कार्य करने के वावजूद बिना वेतन के भूखमरी का जीवन जीने को मजबूर है.

संघ के सचिव आशु शर्मा के बताया की जब तक दो माह का वेतन नहीं मिल जाता है. तब तक उतरी दिल्ली नगर निगम के शिक्षक विरोध स्वरूप लगातार काली पट्टी बांध कर सूखा राशन व भोजन वितरण कार्य करते रहेंगे. संघ के सचिव बलवान सिंह ने दिल्ली के उपराज्यपाल से वेतन उतरी नगर निगम शिक्षकों को वेतन देने के मुद्दे पर हस्तपेक्ष की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *