एमसीडी डॉक्टरों को नहीं मिली 3 माह से सैलरी, IMA-DMA ने PM मोदी से लगाई गुहार

लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. लेकिन इस कठिन समय में भी कई कर्मचारी लगातार काम कर रहे हैं. लेकिन बदले में इन कोरोना वॉरियर्स को सैलरी तक नहीं मिल रही है. पूरा मामला एमसीडी से जुड़ा हुआ है. जहां पर नॉर्थ एमसीडी द्वारा संचालित हॉस्पिटलों में डॉक्टर्स को तीन माह से सैलरी नहीं मिली है. यहां तक कि इन्हें एरियर्स भी नहीं मिल पाया है. एमसीडी से गुहार लगाने के बाद इनकी समस्या का कोई हल नहीं निकला है.

एमसीडी डॉक्टर्स की इस मांग में अब इंडियन मेडिकल एसोसियशन (आईएमए) और दिल्ली मेडिकल एसोसियशन (डीएमए) सामने आए हैं. दोनों ही संस्थाओं ने पूरे मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. प्रधानमंत्री मोदी को लिखे गए पत्र में आईएमए-डीएमए ने इन डॉक्टर्स का दर्द बयां किया है. पत्र में लिखा है कि ये डॉक्टर्स सबसे आगे बढ़कर बिना किसी स्वार्थ के कोविड-19 संकट के समय देश सेवा कर रहे हैं. संकट की इस घड़ी में ये कोरोना वारियर्स अपने घर की भी परवाह नहीं कर रहे हैं.

लेकिन ऐसे तनावपूर्ण समय में भी इन वारियर्स को तीन माह से सैलरी नहीं मिली है. इन्हें घर चलाने में काफी दिक्कतें आ रही हैं. आईएमए-डीएमए ने साफ तौर पर कहा है कि जब ईस्ट एमसीडी समय से सैलरी दे सकती है तो नॉर्थ एमसीडी क्यों नहीं दे रही है? डॉक्टरों की दोनों ही सर्वोच्च संस्थाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल प्रभाव से दखल देने की अपील की है ताकि इन कोरोना वारियर्स को बीते तीन माह की सैलरी, एरियर्स और आगे समय से सैलरी मिल सके.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *