दिल्ली बॉर्डर पर लोगों को करना पड़ रहा परेशानी का सामना

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी के कारण लोगों को कई तरह की दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है. वायरस संक्रमण पर रोक लगाने के उद्देश्य से सरकार ने लॉकडाउन लगा रखा है. मगर लॉकडाउन के बाद भी कोरोना संक्रमण के मामलों में इजाफा देखने को मिल रहा है.

उधर प्रशासन भी चौकन्ना होने का दावा कर रहा है. मगर दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. इन बढ़ते मामलों का असर दिल्ली के पड़ोसी राज्यों और शहरो पर भी हो रहा है.

हरिायणा हो चाहे उत्तर प्रदेश, दोनों ही राज्यों के बॉर्डर दिल्ली से सटे हुए हैं. सैंकड़ों लोग रोजाना हरियाणा, उत्तर प्रदेश से दिल्ली नौकरी व काम के लिए आते हैं. इसी बीच एक बार फिर से एनसीआर के कई शहरों ने दिल्ली से सटे अपने बॉर्डर को सील कर दिया है.

उत्तर प्रदेश के नोएडा की बात करें तो नोएडा प्रशासन ने भी बॉर्डर पर सख्ती की हुई है. लॉकडाउन 4 में भी दिल्ली नोएडा बॉर्डर को सील रखा गया है. सिर्फ उन लोगों को एंट्री दी जा रही है जिनके पास वैलिड पास हैं.

वहीं दिल्ली से नोएडा आने वालों के लिए भी मूवमेंट पास की जरूरत है. मूवमेंट पास के बिना किसी को भी राज्य की सीमा में घुसने की अनुमति नहीं होगी.

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी ऐसे ही हाल हैं. दिल्ली बॉर्डर पर सख्ती देखने को मिल रही है. सोमवार को ही डीएम ने दिल्ली बॉर्डर सील करने के ऑर्डर दिए हैं. इस निर्देश के बाद दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर लंबा जाम देखने को मिला था.

गौरतलब है कि गाजियाबाद में बीते कई दिनों में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं. अबतक यहां 300 कोरोना मरीजों की पुष्ठि हो चुकी है. ऐसे में प्रशासन की तरफ से दिल्ली बॉर्डर को भी सील किया गया है.

वहीं दिल्ली से सटे अन्य राज्य हरियाणा की बात करें तो इसके गुरूग्राम और फरीदाबाद के बॉर्डर दिल्ली से सटे हुए हैं. गुरुग्राम प्रशासन ने भी आदेश निकाला है कि अगर किसी को दिल्ली से गुुरुग्राम आना है तो उसे कोरोना टेस्ट कराना जरूरी होगा.

यही नहीं गुरुग्राम-दिल्ली बॉर्डर से सिर्फ पास धारकों को ही एंट्री मिल रही है. बिना पास के एंट्री पर रोक जारी है. हालांकि दिल्ली सरकार ने बॉर्डर पर लगी रोक को हटा दिया है. वहीं केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक भी राज्यों के बॉर्डर खुले हुए हैं.

हालांकि गुरुग्राम प्रशासन से साफ कर चुका है कि जिले में एंट्री के लिए मूवमेंट पास जरूरी है. इसके अलावा कोविड 19 टेस्ट रिपोर्ट के आधार पर ही एंट्री होगी.

हरिायणा के फरीदाबाद में भी ऐसे ही हालात देखे जा रहे हैं. फरीदाबाद ने भी दिल्ली से सटे बॉर्डर को सील कर दिया है. बॉर्डर क्रॉस करने की अनुमति सिर्फ उन लोगों को मिल रही है जो पास दिखा रहे हैं.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *