कोठे से दिलाई आजादी, फिर की शादी…पढ़िए अनोखी प्रेम कहानी

कहते हैं प्यार अंधा होता है. प्यार में इंसान को प्रेमी के सिवा कुछ नहीं दिखता. कुछ ऐसा ही हुआ मध्य प्रदेश में . जहां एक लड़के को वेश्यावृत्ति करने वाली से प्यार हो गया. दोनो प्यार में कुछ इस कदर डूबे कि दोनो ने जिंदगी साथ बसर करने का फैसला कर लिया. आकाश नाम के इस शख्स को एक लड़की से प्यार हो गया और उसे पाने के लिए उसने अपनी जान को जोखिम में डाल दियाहा. लांकि उन दोनों का प्यार रंग लाया और उन्होंने कोर्ट में जाकर शादी कर ली. साथ ही इसी युवक ने अपने पूरे समाज को एक सकारात्मक संदेश भी दिया. आकाश और भारती दोनों बांछड़ा समुदाय से हैं, यह वही बांछड़ा समुदाय है जो अपने ही बच्ची को वेश्यावृत्ति जैसे दलदल में धकेल देता है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नीमच, मंदसौर और रतलाम जिलों के आसपास इस समुदाय के करीब 250 डेरे हैं, जो खुलेआम वेश्यावृत्ति करते हैं. इस समुदाय के लोग अपनी खुद की बेटियों को इस गंदे काम में चंद रुपयों के लिए वेश्यावृत्ति के दलदल में धकेल देते हैं. हैरानी की बात तो यह है कि यह काफी सालों से हो रहा है, लेकिन प्रशासन ने अभी तक इसे बंद करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है.

रिपोर्ट के अनुसार आकाश की 3 साल पहले एक रिसक्यू के दौरान भारती से मुलाकात हुई थी. हालांकि उस दौरान वह नाबालिग थी और आगे पढ़ना चाहती थी. लेकिन उसकी मां ने उसे इस गंदगी में धकेल दिया था. आकाश ने किसी तरह भारती को एक हॉस्टल में भर्ती करा दिया था. लेकिन कुछ दिनों बाद भारती की मां ने हॉस्टल से उसे डेरे में ले आई और पंचायत बुलाई गई. तब सरपंच ने आकाश को भारती से दूर रहने की फरमान सुना दिया. लेकिन ठीक 7 दिन बाद आकाश ने एनजीओ और पुलिस की मदद से एक डेरे में छापा मारा था. भारती की मां को पांच लड़कियों के साथ दे व्यापार करते पकड़ा गया. भारती के बालिग होने के बाद पुलिस ने इन दोनों की शादी भी करवा दी.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *