सभी 130 करोड़ भारतीय अपने हैं किसी के प्रति नहीं रखें भेदभाव: मोहन भागवत

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान कुछ लोग भय और क्रोध के कारण गलतियां कर रहे हैं, लेकिन उन्हें संकट के इस समय में मन में भेदभाव नहीं रखना चाहिए. आज देश की 130 करोड़ जनता एक है.

रविवार को नागपुर में आयोजित वर्तमान परिदृश्य परिदृश्य एवं हमारी भूमिका विषय पर कहा कि कोरोना संकट के कारण किसी एक समाज से जोड़ना और दूरी बनााना सही नहीं है. इस मुद्दे पर लोग राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे हैं और भड़काने के प्रयास कर रहे हैं. मगर हमें जरूरत ऐसे लोगों से दूरी बनाने की जो समाज में असमानता फैलाने की कोशिश करते हैं.

आपको बता दें कि लॉकडाउन के बाद ये पहला मौका है जब संघ प्रमुख मोहन भागवत ने जनता से संवाद किया हो. इस दौरान उन्होंने पालघर में भीड़ द्वारा हिंसा का शिकार हुए दो साधुओं की हत्या की निंदा करते हुए कहा कि पुलिस और प्रशासन को ऐसे मामलों में सख्ती बरतनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि वो दोनों साधु निर्दोष थे. उन्होंने किसी का कुछ नहीं बिगाड़ा था. आगामी 28 तारीख को इन साधुओं को श्रद्धांजलि दी जाएगी. ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए.

कोरोना संकट से विश्व परेशान

कोरोना वायरस के संकट पर उन्होंने कहा कि पहली बार है जब विश्व भर में कोरोना जैसी महामारी फैली है. ये संकट हमें काफी कुछ सिखा रहा है. ये हमें आत्मनिर्भर बनने की शिक्षा दे रहा है. इस समय हमें राष्ट्र निर्माण पर ध्यान देने की जरूरत है.

भविष्य सुधरे इसके लिए पर्यावरण अनुकूल, रोजगारपरक और जरूरत से ज्यादा उपभोग न करने वाली विज्ञान और परंपरा पर आधारित विकास के मॉडल का निर्माण करना होगा. इसमें स्वदेशी का उपयोग करना और अपनी शर्तों पर ही कहीं बाहर से सामान आयात करना शामिल है.

उन्होंने कहा कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है. अभी समय है इसका मिलकर और डटकर सामना करने की. संकट की इस घड़ी में सभी लोगों को अपना मानकर पूर्ण सावधानी बरतते हुए उनकी सेवा में जुटना चाहिए.

उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के अंत होने की जानकारी के बारे में नही पता है. ऐसे में हमे देश में जारी लॉकडाउन का पालन करते हुए सामाजिक दूरी के नियमों का भी पालन करना होगा. इसके लिए लोगों को भी जागरूक करना जरूरी है.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *