सिर्फ बर्थडे ही नहीं तेंदुलकर की जिंदगी का एक और खास दिन है आज

दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर आज अपना 47वां जन्मदिन मना रहे हैं. क्रिकेट की दुनिया में 24 वर्षों तक ही एक्टिव रहे. अपने करियर के दौरान उन्होंने कई ऐसे कीर्तिमान रचे की उन्हें क्रिकेट प्रेमियों ने भगवान का दर्जा भी दिया. आज वो क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह चुके हैं मगर लोगों के दिलों में राज करते हैं.

मगर इस दुनिया में एक व्यक्ति जिसका सचिन तेंदुलकर के दिल पर राज है. वो और कोई नहीं बल्कि उनकी पत्नी अंजलि तेंदुलकर हैं. अगर आपको उनकी लव स्टोरी के बारे में बताया जाए तो आपको लगेगा शायद कोई बॉलिवुड फिल्म चल रही है. मगर सोचिए सचिन और अंजलि ने तो खुद उस जिंदगी को जिया है, उनके लिए उस समय सब कितना रोमांचक रहा होगा.

आज ही हुई थी सगाई

आज सचिन तेंदुलकर सिर्फ जन्मदिन ही नहीं है बल्कि आज ही के दिन यानी 24 अप्रैल को उनकी सगाई ङुई थी. वो सचिन का 21वां बर्थडे था. उस समय सचिन भारतीय टीम के साथ न्यूजीलैंड दौरे पर थे. एंगेजमेंट होने के एक साल बाद यानी 24 मई 1995 को दोनों की शादी के बंधन में बंध गए थे.

पहली नजर का प्यार

पहली नजर का प्यार और फिर उसी से शादी का फैसला आमतौर पर हम फिल्मों में देखते हैं. इसी के साथ परिवार के खुशी और उनकी नाराजगी के किस्से भी हर फिल्म का हिस्सा होते हैं. जब प्यार की बात थी तो तेंदुलकर की लव लाइफ में भी ऐसा ही कुछ हुआ.

उन्हें प्यार हुआ खुद से 6 साल बड़ी अंजलि से. उन्होंने अंजलि को पहली बार अगस्त 1990 में मुंबई एयरपोर्ट पर देखा था. ये वो समय था जब सचिन इंग्लैंड में हुए अपने करियर के पहले टेस्ट टूर को पूरा कर लौटे थे.

उस समय हर सरफ सचिन का जलवा था, उनकी ही चर्चा थी, क्योंकि उन्होंने मजह 17 साल 107 दिन की उम्र में पहले टेस्ट सीरिज और विदेशी धरती पर शतक जड़ने का कारनामा कर दिया था. इस दौरान अंजलि अपनी दोस्त के साथ एयरपोर्ट पर पहुंची थी. सचिन ने अंजलि को पहली बार यहीं देखा था. इसके बाद जब अंजलि की नजर सचिन पर पड़ी तो वो उनका ऑटोग्रॉफ लेने उनके पीछे भागी मगर सचिन शर्मा गए और अपनी गाड़ी में बैठकर चले गए.

इसके बाद अंजलि ने सचिन से मिलने की इच्छा जाहिर की. अंजलि ने सचिन को फोन नंबर ढूंढा और उन्हें फोन किया. इस तरह से दोनों के बीच दोस्ती की शुरूआत हुई.

इसके बाद दोनों के बीच में मुलाकातों का दौर बढ़ने लगा. एक समय ऐसा भी आया की सचिन की लोकप्रियता के कारण दोनों का मुंबई शहर में मिलना मुश्किल हो गया. ऐसे में सचिन अंजलि से मिलने उनके कॉलेज जाया करते थे.

शादी की ऐसे हुई बात

सचिन और अंजलि की शादी की बात खुद सचिन ने नहीं की थी. शर्मिले स्वभाव के सचिन ने ये जिम्मदारी अपनी होने वाली पत्नी अंजलि को दी थी. सचिन का मानना था कि वो दुनिया भर के गेंजबाजों के बाउंसर का सामना कर सकते हैं मगर परिवार के बाउंसर संभालने के लिए तो अंजलि की ही मदद उन्होंने ली. हालांकि दोनों ही परिवारों की रजामंदी के बाद अंजलि और सचिन की शादी 1995 में हो गई.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *