नामीबिया: समुद्र किनारे रहस्यमयी तरीके से मरी हुई मिली 7000 हज़ार केप फर सील

लगभग 7000 केप फ़र सील समुद्र किनारे मृत पाई गईं हैं. ये घटना है साउथ-वेस्ट अफ्रीकी देश नामिबिया की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते सप्ताह रहस्यमयी तरीके से नामीबिया की एक ब्रीडिंग कॉलोनी में लगभग 7000 केप फ़र सील मरे पाए गए. फिलहाल ये कैसे मरे, इसके टेस्ट आने का इंतज़ार है.

नामीबिया के ओशन कंज़र्वेशन से जुड़े पर्यावरणविद Naude Dreyar ने सितम्बर में एक दूसरी जगह पर कुछ मरे हुए सील देखे थे. उन्होंने Walvis Bay City के पास सितम्बर में कुछ सील मरे हुए देखे. कुछ समय पहले उनकी संस्था ने एक पोस्ट करते हुए मरे हुए सील की तस्वीरें पोस्ट की थी.

“इस सील कॉलोनी में लगभग 5000 सील के मरने की पुष्टि हुई है. ये दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि इस समय जन्म लेने वाले नन्हें सील को नवम्बर अंत में अडॉप्शन के लिए दिया जाता है.” सितम्बर में एक अलग जगह पर सील मरे होने के बाद उन्होंने अब अक्टूबर में एक सतह कई सील भ्रूण देखे. इस ख़बर को अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ एजेंसी AFP ने शेयर भी किया. फ़र सील्स की ये प्रजाति नवम्बर और दिसंबर के मध्य में प्रजनन करती हैं.

अनुमान लगाया जा रहा है कि 5000 से 7000 मादा सील्स का गर्भपात हुआ है. जबकि अभी कुछ और का पता चलना बाकी है. इस संख्या में एक साथ इस कुनबे की मृत्यु किस कारण हुई, इस पर अभी तक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा पोषण की कमी, किसी बैक्टेरियल इन्फेक्शन या फिर प्रदूषक से भी हो सकता है.

एक्सपर्ट्स का कहना है कि मरी हुई कई मादा सील बेहद कमज़ोर लग रही थी और जो अमूमन सील के शरीर में फ़ैट रिज़र्व रहता है, वो भी बेहद कम था. किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए वैज्ञानिक सैंपल कलेक्ट कर रहे हैं. इससे पहले 1994 में इस तरह से एक साथ 10 हज़ार सील मरी हुई मिली थी और 15,000 भ्रूण भी बीच पर बिखरे हुए पड़े थे. उस समय इस मास-मृत्यु का कारण पोषण की कमी और बैक्टीरियल इन्फेक्शन को बताया गया था. केप क्रॉस नाम की इस ब्रीडिंग कॉलोनी में मछलियों की कमी की वजह से इतनी बड़ी संख्या में सील मृत पाई गईं थी.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *