NEET 2020 : एग्जाम देने के लिए ऐसे करें तैयारी

नई दिल्ली. किसी परीक्षा में सफल होने के लिए जरूरी है सबसे अच्छी तैयारी. इंग्लिश राइटर सैमुअल टेलर ने तो कहा भी है कि जिसकी तैयारी सबसे अच्छी होगी सफल वही होगा. वैसे ये बात नीट (NEET) का एग्जाम देने जा रहे स्टूडेंट्स के लिए बिलकुल सटीक साबित होती है.

नीट यानी की नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेस टेस्ट. ये भारत के सबसे महत्वपूर्ण एग्जाम में से एक है. इस एग्जाम को पास करने के बाद ही कोई स्टूडेंट मेडिकल फिल्ड में करियर बना सकता है. हर साल इस एग्जाम में लाखों छात्र बैठते हैं. इस बार 15 लाख छात्रों ने एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है.

आमतौर पर एग्जाम अप्रैल में आयोजित होता है. मगर इस बार कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण इसकी तारीख 26 जालई तय की गई है. नई तारीख की घोषणा कुछ दिन पहले केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने दी थी.

आपको बता दें कि इस एग्जाम में 15 लाख छात्रों ने रजिस्टर करवाया है. वहीं मेडिकल के लिए सीटें काफी कम है. ऐसे में कंपीटिशन भी जोरदार है. ये कहना बिलकुल गलत नहीं होगा कि इस एग्जाम को पास करना हर किसी के लिए संभव नहीं होता.

एग्जाम डेट सामने आने के बाद अब स्टूडेंट्स तैयारी को अंतिम रूप देने में जुटे हुए हैं. इस समय सबसे जरूरी है कि आप एक बार फिर से एग्जाम पैटर्न को समझे. सिलेबस को लेकर किसी तरह की कन्फ्यूजन न पालें.

तीन घंटे का एग्जाम

आपको बता दें कि नीट (NEET) का एग्जाम तीन घंटे का होता है. इसमें मल्टीपल च्वाइस क्वेशन आते हैं. कुल 180 क्वेशन के लिए 720 मार्कस निर्धारित होते हैं.

एग्जाम में तीन सबजेक्ट से संबंधित सवाल होते हैं. मसलन फिजिक्स के 45, केमेस्ट्री के 45  और बायोलॉजी जिसमें बोटनी और जूलॉजी भी शामिल है के 90 प्रश्न पुछे जाते हैं. जब आप सही आंसर देते हैं तो हर सही आंसर के लिए +4 और गलत आंसर के लिए – वन अंक किए जाते हैं. यानी एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग भी होती है.

मॉक टेस्ट न भूलें

आपको बता दें कि एग्जाम के लिए सिर्फ पढ़ना ही जरूरी नहीं है. तीन घंटे के पेपर को सॉल्व करने की स्पीड भी होनी चाहिए. कहीं ऐसा न हो कि पढ़ाई करने के बाद भी एग्जाम वाले दिन आप स्पीड़ में पेपर सॉल्व न कर पाए. ऐसे में अभी से रोजाना मॉक टेस्ट देने की प्रैक्टिस करें.

नीट का एग्जाम 3 घंटे का होता है. एग्जाम दोपहर 2 बजे से 5 बजे तक होता है. आप अभी सो रोजाना इस समय एग्जाम देने की प्रैक्टिस करें. आपकी बॉडी क्लाक अपने आप इस समय में पेपर देने की आदि हो जाएगी जिससे आफको एग्जाम वाले दिन काफी मदद मिलेगी.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *