चीन पर हमलावर हुए ट्रंप, कोरोना वायरस फैलाने का ठहराया दोषी

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण देश भर में हाहाकार मचा हुआ है. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि चीन कोरोना वायरस को दुनिया भर में फैलने से रोक सकता था, मगर ऐसा नहीं हुआ. अमेरिका इस मामले की गंभीरता से जांच कर रहा है.

ट्रंप ने कहा कि हम बहुत गंभीर जांच कर रहे हैं. हम चीन के व्यवहार से खुश नहीं है. बहुत ऐसे तरीके हैं जिनसे आप उन्हें जवाबदेह ठहरा सकते हैं. हम मानते है कि इसके प्रसार को रोका जा सकता था. ये पूरी दुनिया में नहीं फैलता.

इससे पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा था कि अमेरिका का विश्वास है कि बीजिंग समय पर कोरोना वायरस फैलने की सूचना देने में सफल नहीं हुआ. चीन ने हर स्तर पर ये सच्चाई छिपाई की कोरोना वायरस बीमारी कितनी खतरनाक है.

वहीं अमेरिका के इस बयान के बाद चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने ट्विटर पर कहा कि पोम्पियो को राजनीतिक खेल बंद करना चाहिए. अपनी ऊर्जा बचाकर लोगों की जान बचाने पर फोकस करना चाहिए.

इससे पहले व्हाइट हाउस के सलाहकार पीटर नवारो ने चीन पर अमेरिका में कम गुणवत्ता ओर नकली कोरोना वायरस किट भेजने और महामारी के समय में मुनाफा कमाने का आरोप भी लगाया.

दुनिया में 2 लाख लोगों की गई जान

अमेरिका कोरोना वायरस के कारण काफी परेशानियां झेल चुका है. कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण अमेरिका में 55 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. वहीं दुनिया भर में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 207,000 से भी ज्यादा है.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *