वर्ल्ड बैंक भारत को देगा 1 बिलियन डॉलर का सामाजिक सुरक्षा पैकेज

वर्ल्ड बैंक ने भारत के लिए 1 बिलियन डॉलर (7.5 हजार करोड़ रुपये) के सामाजिक सुरक्षा पैकेज की घोषणा की है. ये जानकारी वर्ल्ड बैंक में भारत के कंट्री डायरेक्टर जुनैद अहमद ने शुक्रवार को दी है. उन्होंने ये भी कहा, ‘सोशल डिस्टेंसिंग के कारण अर्थव्यवस्था में मंदी आई है. भारत सरकार ने गरीब कल्याण योजना पर ध्यान केंद्रित किया है ताकि गरीबों और कमजोर लोगों की सुरक्षा में मदद मिल सके.’

ये राशि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर गरीब, कमजोर परिवारों को सामाजिक सहायता देने के भारत के प्रयासों में मदद के मद्देनजर भारतीय कोविड-19 सामाजिक संरक्षण प्रतिक्रिया कार्यक्रम को प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी. वर्ल्ड बैंक के इंडिया हेड जुनैद अहमद ने कहा कि वर्ड बैंक तीन क्षेत्रों में भारत सरकार के साथ भागीदारी करेगा – स्वास्थ्य, सामाजिक सुरक्षा और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME). भारत के सामाजिक सुरक्षा को प्रवासियों, असंगठित श्रमिकों, पोर्टेबिलिटी और सिस्टम के एकीकरण का निर्माण करने के लिए प्रेरित किया जाता है.

विश्व बैंक के एक बिलियन डॉलर (करीब 7600 करोड़) सामाजिक सुरक्षा पैकेज पर वर्ल्ड बैंक के इंडिया हेड जुनैद अहमद ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली, जन धन, आधार और मोबाइल के मौजूदा बुनियादी ढांचे का यह गुल्लक है. बता दें, वर्ल्ड बैंक ने पहले ही 25 विकासशील देशों को पैकेज देने का प्रस्ताव किया था.

इससे पहले विश्व बैंक ने भारत को महामारी से निपटने के क्रम में सार्वजनिक स्वास्थ्य तैयारी को मजबूत बनाने के लिए 7500 करोड़ का पैकेज दिया था. यह बैंक की ओर से भारत को स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए दिया गया अब तक का सबसे बड़ा समर्थन है. इसके तहत भारत में सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को कवर करने का फैसला लिया गया है. विश्व बैंक द्वारा पहले उपलब्ध कराया गया पैकेज महामारी के संकट से संघर्ष कर रहे दुनिया भर के विकासशील देशों के लिए सहायता अभियान के लिए पहला कदम था. इसके तहत 25 विकासशील देशों को सहायता मुहैया कराई गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *